February 23, 2018

सबसे ज्यादा स्टोरेज वाला डिवाइस

सबसे ज्यादा स्टोरेज वाला डिवाइस

सैमसंग ने दुनिया की सबसे ज्यादा स्टोरेज वाली डिवाइस को लॉन्च किया है। PM1643 स्टोरेज डिवाइस को पेश किया है।

सबसे ज्यादा स्टोरेज वाला डिवाइस

सबसे ज्यादा स्टोरेज वाला डिवाइस

सैमसंग ने दुनिया की सबसे ज्यादा स्टोरेज वाली डिवाइस को लॉन्च किया है। PM1643 स्टोरेज डिवाइस को पेश किया है।  डिवाइस में 30 टीबी की स्टोरेज दी गई है। डिवाइस की चौड़ाई 2.5 इंच है।  इस डिवाइस में यूजर 5,700 एचडी मूवीज डाउनलोड कर सकते हैं। डिवाइस में 500 दिनों का वीडियो स्टोर किया जा सकता है।

February 13, 2018

क्या है सच एडिडास के 3000 रूपये के मुफ्त जूतों का // Free Adidas 3000 Rs Shoes

क्या है सच एडिडास के 3000 रूपये के मुफ्त जूतों का // Free Adidas 3000 Rs Shoes 

क्या है सच एडिडास के 3000 रूपये के मुफ्त जूतों का // Free Adidas 3000 Rs Shoes



अभी अभी हाल ही के दिनों में सोशल मीडिया पर एडिडास 3000 रूपये के जूते फ्री में मिलने की बात कही जा रही है यह खबर मैसेंजर पर काफी तेजी से फैल रही है।

क्या है सच  Free Adidas 3000 Rs Shoes 

अगर आप को भी इस प्रकार का कोई संदेश मिला है। तो आपको सलाह अगर आपको भी इस प्रकार का कोई संदेश मिला है तो आपको सलाह दी जाती है कि ऐसे किसी भी झांसे में न आएं संदेश में दिए गए निर्देशों का पालन करने से आपकी व्यक्तिगत जानकारी अपराधी हासिल कर सकते हैं।


पिछले कई दिनों से WhatsApp पर एक मैसेज खूब शेयर हो रहा है। इस पिछले कई दिनों से WhatsApp पर एक मैसेज खूब शेयर हो रहा है इस मैसेज में दावा किया जा रहा है कि एडिडास अपनी 93 वीं जयंती पर 3000 रूपये के जूते के जोड़े मुफ्त दे रहा है सिर नीचे लिखा होता है मुफ्त में जूते पढ़ने के लिए एडिडास डॉट कॉम / शूज लिंक पर क्लिक करें।

देखने में यह एडिडास की आधिकारिक वेबसाइट लगती है लेकिन वास्तव देखने में यह एडिडास की आधिकारिक वेबसाइट लगती है लेकिन वास्तव में यह धोखाधड़ी है जिससे साइबर अपराधियों तक आपकी निजी जानकारी पहुंच सकती है।



एक्सप्रेस डॉट एक्सप्रेस डॉट को डॉट यूके की खबर में कहा गया है कि इस  इस मैसेज से पहले ही हजारों लोगों को ठगा जा चुका है एडिडास ने भी इस मैसेज को धोखाधड़ी बताया है।
द सन से हुई से हुई बातचीत में एडिडास दक्षिण अफ्रीका ब्रांड कम्युनिकेशन केपीआर मैनेजर लारेंस हक्कमेन कहते हैं ।
''हमें WhatsApp पर शेयर हो रहे इस संदेश के बारे में पता चला है जो पूरी तरह से एक अफवाह है आपको लिंक पर क्लिक करने से बचना चाहिए।''
इससे आपकी निजी जानकारी चोरी होने का अंदेशा है।

February 12, 2018

लाइव हुआ WhatsApp पेमेंट फीचर भारत में किस तरह करें इस्तेमाल

लाइव हुआ WhatsApp पेमेंट फीचर भारत में किस तरह करें इस्तेमाल


लाइव हुआ WhatsApp पेमेंट फीचर भारत में किस तरह करें इस्तेमाल

भारतीय ग्राहकों को लंबे समय से इंतजार था कि WhatsApp कब अपना यूपीआई आधारित WhatsApp पेमेंट फीचर लाइव करेगी। जब यूजर्स Paytm की तरह WhatsApp से भी पैसे भेज पाएंगे। इस पिक्चर को IOS और Android दोनों पर उपलब्ध करवा दिया गया है।
आइए आपको बताते हैं कि सभी WhatsApp यूजर अपने ऐप में पेमेंट ऑप्शन को नहीं देख पा रहे हैं तो ऐसे यूजर्स और ग्राहकों के लिए फीचर कब तक लाइव हो जाएगा। जब कोई अपडेट यूज़र अपनी ऐप से यूजर को मैसेज करेगा तभी। आसान शब्दों में अगर बताएं तो अगर आपके किसी दोस्त को पेमेंट फीचर मिल गया है और आपको नहीं। तो उस दोस्त के मैसेज करने के बाद आपके पास भी वह विकल्प आ जाएगा। मैसेज आने के बाद यूजर अपनी ऐप भी लॉन्च करेगा। जिससे कि वह एक्टिव हो जाएगा।

कहां देगा दिखाई यह फीचर

पेमेंट फीचर WhatsApp की सेटिंग में दिखाई देगा। यह फीचर भारत के यूपीआई पेमेंट पर आधारित होगा इससे ग्राहक डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर कर पाएंगे।

 WhatsApp ने किन बैंकों के साथ की साझेदारी

 इस पिक्चर को इस पिक्चर को लाइक करने से पहले WhatsApp ने कई बैंकों के साथ समझौते किए यूपीआई पेमेंट के लिए WhatsApp ने आईसीआईसीआई बैंक से समझौता किया और ग्राहकों को यूपीआई एक्टिवेट करने के लिए नियम और शर्तों को एक्सेप्ट करने के बाद ग्राहकों को मोबाइल नंबर पर एक SMS के जरिए वेरीफाई करना होगा ICICI के साथ HDFC SBI यस बैंक पंजाब नेशनल बैंक इलाहाबाद बैंक और एक्सिस बैंक भी इस सूची में शामिल है

यूपीआई को कैसे करें एक्टिव


  • WhatsApp सेटिंग में पेमेंट के विकल्प पर जाएं।
  •  यहां आपको एक बैंक अकाउंट यहां आपको एक बैंक अकाउंट ऐड करना होगा।
  •  एड न्यू बैंक अकाउंट पर क्लिक करें।
  •  नियम और शर्तों को मानने का विकल्प आएगा नियम और शर्तों को मानने का विकल्प आएगा जिसमें आपको हां या ना में चयन करना होगा।
  •  इसके इसके बाद आपको अपना नंबर वेरीफाई करना होगा।
  •  मोबाइल नंबर वेरीफाई होने के बाद बैंक की लिस्ट आएगी आज आएगी मोबाइल नंबर वेरीफाई होने के बाद बैंक की लिस्ट  मैं से बैंक का चुनाव करना होगा।
  • अपने अकाउंट किस में यूपीआई एक्टिव हो उसका चयन करने के बाद।
  •  इसके बाद यूजर को इसके बाद यूजर को अपने डेबिट कार्ड  के लास्ट यानी अंतिम 6 नंबर एंटर करने होंगे इसी के साथ एक्सपायरी डेट भी बनी होगी।
  •  आप आप पैसे भेजने के लिए किसी वीचैट ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • इसमें प्लस पर टाइप करें यहां आपको पेमेंट पिक्चर दिखाई देगा जो इन्हें बल हो गया होगा।
  •  ध्यान रहे पैसे भेजने या ध्यान रहे पैसे भेजने या पाने के लिए WhatsApp का पेमेंट फीचर एक्टिव होना जरूरी है।
  •  WhatsApp के इस नए फीचर से भारत में ग्राहकों को पैसे भेजना और प्राप्त करना बहुत आसान हो जाएगा।

यहां पर देखें होंडा की नई अमेज

February 06, 2018

8999/- में 20 मेगापिक्सल फ्रंट कैमरे के साथ इनफिनिक्स का हॉट s3

8999/- में 20 मेगापिक्सल फ्रंट कैमरे के साथ इनफिनिक्स का हॉट s3

इन फिनिक्स ने भारत में अपना नया स्मार्टफोन S3 लांच कर दिया है स्मार्ट फोन की खासियत की बात करते हैं तो यह सामने आता है कि कम कीमत में बेहतरीन स्पेसिफिकेशंस दे रही है। कंपनी इनफिनिक्स भारत में अपना नया सेल्फी फोरकास्ट हॉट S3 स्मार्टफोन पर्स करने के साथ ही इसमें स्वामी जैसी कंपनियों को टक्कर दे सकने की काबिलियत है। इस फोन की टक्कर क्सिओमी रेडमी वाई वन से होगी जानते हैं इस फोन में क्या-क्या खास बातें हैं।

उपलब्धता और कीमत

हॉट S3 एंड्रॉयड 8.0 ओरियो यानी लेटेस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम पर कार्य करने वाला स्मार्टफोन है। इसे दो वेरिएंट 3जीबी रैम 32 जीबी इंटरनल स्टोरेज और 4जीबी रैम 64जीबी इंटरनल स्टोरेज में पेश किया गया है। इसकी कीमत रूपये 8999 और रूपये 10999 है। फोन सेंड स्टोन और ब्रश गोल्ड कलर वेरिएंट में भी उपलब्ध होगा।

क्या है स्पेसिफिकेशंस

इन फिनिक्स ने इस फोन में फुल न्यू बिजनेस डिस्प्ले दिया है। इसका स्क्रीन साइज 5.6 इंच है। इस डिवाइस में 1.4 गीगाहर्ट्ज़ ऑक्टा-कोर क्वालकॉम स्नैपड्रैगन प्रोसेसर है कैमरे की बात करें। तो इसमें LED लाइट के साथ 13 मेगापिक्सल का रियर और 20 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा दिया गया है फोन को पावर देने का काम 4000 एमएएच की बैटरी करेगी।
इस फोन का मुकाबला रेडमी वाई वन से होगा।

कनेक्टिविटी इस फोन की 4जी वोल्टी वाईफाई ब्लूटूथ GPS और यूएसबी टाइप सी जैसे कनेक्टिविटी फीचर कंपनी ने इसके साथ दिए हैं।

रेडमी वाई वन स्पेसिफिकेशंस

वहीं दूसरी ओर रेडमी वाई वन के 2GB रैम 32जीबी स्टोरेज वेरिएंट की कीमत ₹6999 है इसके अन्य मॉडल्स की कीमत है ₹8999 और ₹10999 है शिवानी बाइबिल में 5 पॉइंट 5 इंच का आईपीएस एलसीडी डिस्प्ले दिया गया है क्वाड कोर स्नैपड्रैगन 435 एसएससी के साथ 3GB 4जीबी रैम और 32GB 64जीबी स्टोरेज दी गई है इसकी स्टोरेज को मेमोरी कार्ड की मदद से 128 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है रेडमी वाई वन एंड्रॉयड 7.0 नॉगट आधारित कार्य करता है फोन में BF LED फ्लैश और दो के साथ तेरा मेगापिक्सेल कैमरा दिया गया है LED लाइट के साथ 16 मेगापिक्सल का सेल्फी कैमरा दिया गया है 3080 एमएएच बैटरी दी गई है

वीडियो कॉल और टेक्स्ट मैसेज को किस तरह करे रिकॉर्ड

वीडियो कॉल और टेक्स्ट मैसेज को किस तरह करे रिकॉर्ड

आजकल स्मार्टफोंस के जरिए आप वीडियो कॉल से लेकर टेक्स्ट मैसेज तक को रिकॉर्ड कर सकते हैं इन तरीकों से आप कर सकते हैं आइए जाने।

आप अपने दैनिक जीवन में स्मार्ट फोन का यूज बहुत ज्यादा करते हैं। क्या आपको कभी ऐसा लगा है कि आप अपने फोन के किसी भी एक्टिविटी को रिकॉर्ड कर सकते तो अच्छा होता। तो अब सोचिए मत आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आप अपने फोन की एक्टिविटी को कैसे रिकॉर्ड कर सकते हैं। Google Play Store पर ऐसे कई एप्प मौजूद हैं जिन्हें आप डाउनलोड करके अपने फोन की स्क्रीन को रिकॉर्ड कर सकते हैं। इस तरह आप अपने WhatsApp वीडियो कॉल से लेकर मैसेंजर टेक्स्ट को वीडियो फॉर्मेट में सेव कर पाएंगे यह हैं। DU रिकॉर्डर, AZ स्क्रीन रिकॉर्डर, HD स्क्रीन रिकॉर्डर और रिकॉर्डिंग यानी स्क्रीन रिकॉर्डर जैसे ऐप से आप अपने स्मार्टफोन की स्क्रीन को रिकॉर्ड कर सकते हैं हम आपको इन्हीं में से एक रिकॉर्डिंग स्क्रीन रिकॉर्डर के बारे में बताने जा रहे हैं कि यह काम कैसे करता है।

स्टेप


  1. सबसे पहले आप Google Play Store पर जाकर रिकॉर्डिंग डॉट स्क्रीन रिकॉर्डर पर क्लिक करें।
  2. ऐप को ओपन करने पर आपको कई विकल्प दिखाई देंगे इनमें से वीडियो की साइज बीट रेट रेगुलेशन और फाइल नेम दिखाई देगा।
  3. आप की सेटिंग के बाद रिकॉर्ड बटन पर क्लिक करें।
  4. लैपटॉप से फोटो मीडिया और एक्सेस करने की परमिशन मांगेगा।
  5. अब अब आपके स्मार्टफोन की स्क्रीन की हर एक्टिविटी को रिकॉर्ड करने की परमिशन मांगेगा स्टार्ट नाउ ऐप कि टैब पर क्लिक करें।
  6. अब आपके फोन की स्क्रीन पर चल रही सारी एक्टिविटी को रिकॉर्ड करना शुरु कर देगा अब इसे सेव कर ले और अपने मीडिया प्लेयर में प्ले कर देख ले कि आपके फोन में क्या एक्टिविटी रिकॉर्ड हुई है।


February 03, 2018

सुषमा स्वराज ने की द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने के लिए नेपाल के नेताओं से बातचीत

सुषमा स्वराज ने की द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने के लिए नेपाल के नेताओं से बातचीत

सुषमा स्वराज ने की द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने के लिए नेपाल के नेताओं से बातचीत

सुषमा स्वराज ने की द्विपक्षीय संबंध मजबूत करने के लिए नेपाल के नेताओं से बातचीत


संवादाता काठमांडू
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज नेपाल के साथ भारत के देवी आयामी और ऐतिहासिक रिश्तो को आगे बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की और विश्वास दिलाया कि नेपाल में राजनीतिक स्थिरता पानी और विकास की दिशा में आगे चल रहे प्रयासों में भारत पूरा सहयोग देगा।
2 दिन की यात्रा पर कल यहां पहुंची सुषमा स्वराज ने आज राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा से मुलाकात की और सीपीएम मां वेस्ट सेंटर के अध्यक्ष प्रखंड के साथ भी।
सुषमा ने प्रचंड से आज सुबह नाश्ते पर हुई मुलाकात के बाद कहा कि हम राजनीतिक स्थिरता पाने और विकास के लिए नेपाल को पूरी तरह सहयोग देंगे।
प्रचंड ने कहा कि हमने चुनाव संपन्न होने और नई सरकार के गठन की तैयारी के बाद उभर रहे हालात पर चर्चा की।''

कैसी रही मुलाकात-

उनकी पार्टी ने हाल ही में नेपाल में हुए चुनावों में सीपीएन- यूएमएल के साथ एवं गठजोड़ बनाया था।
प्रचंड ने कहा कि ''मैंने सुषमा स्वराज से कहा, हम राजनीतिक स्थिरता और विकास चाहते हैं। जिसके लिए हमें पड़ोसी देशों से सहयोग की जरूरत है।''
सुषमा ने विश्वास दिलाया कि ''भारत राजनीतिक स्थिरता और विकास के लिए नेपाल के प्रयासों में उसे पूरा सहयोग देगा।''
माओवादी नेता ने कहा कि ''सुषमा नेपाल में चल रहे राजनीतिक घटनाक्रम के बारे में जानने को उत्सुक थी।''
उन्होंने कहा कि ''हमने बहुत सकारात्मक और रचनात्मक बातचीत की।'' उन्होंने हाल ही में संपन्न हुए चुनाव में जीत हासिल करने पर बाम गठबंधन को बधाई भी दी।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया कि ''विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने नेपाल में सीपीएम के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल प्रचंड से मुलाकात की और हाल ही में हुए चुनाव में उनकी पार्टी के अच्छे प्रदर्शन पर बधाई दी। दोनों नेताओं ने हमारे अनोखे भारत- नेपाल द्विपक्षीय संबंधों को और गहरा करने के कदमों पर चर्चा की।'' नेपाल के प्रधानमंत्री देउबा ने मुलाकात के दौरान सुषमा जी से कहा कि ''हाल ही में चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न कराने पर बधाई दी।''
रवीश कुमार ने कहा ''बातचीत हमारी सदियों पुरानी ऐतिहासिक साझेदारी को आगे ले जाने के लिए हमारे द्विपक्षीय सहयोग को बढ़ाने पर केंद्रित रही।'' राष्ट्रपति भंडारी से बातचीत में सुषमा ने उन्हें नेपाल के चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न कराने की बधाई दी। उन्होंने कहा ''हमारे बहु आयामी संबंधों को आगे बढ़ाने के तरीकों पर बातचीत हुई।''

कश्मीर के बारामूला में दो आतंकी गिरफ्तार पाकिस्तान में लेकर आए ट्रेनिंग

कश्मीर के बारामूला में दो आतंकी गिरफ्तार पाकिस्तान में लेकर आए ट्रेनिंग

कश्मीर के बारामूला में दो आतंकी गिरफ्तार पाकिस्तान में लेकर आए ट्रेनिंग

कश्मीर के बारामूला में दो आतंकी गिरफ्तार पाकिस्तान में लेकर आए ट्रेनिंग


कश्मीर में सुरक्षाबलों को आज बड़ी सफलता हाथ लगी। कश्मीर के बारामूला जिले में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकियों को सुरक्षाबलों ने गिरफ्तार कर लिया। इन आतंकियों को पाकिस्तान में ट्रेनिंग दी गई थी। पकड़े गए आतंकी हथियार चलाने का प्रशिक्षण लेने और घाटी में आतंकी गतिविधियां संचालित करने के लिए पाकिस्तान के वैध वीज़ा पर वहां गए थे। उन्हें पुलिस सेना और सीआरपीएफ के संयुक्त अभियान के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने बताया कि आतंकियों ने केवल इसी उद्देश्य के लिए पासपोर्ट बनवाया था।

पुलिस की जांच-

पुलिस के मुताबिक लश्कर- ए -तैयबा के आतंकियों को वाघा सीमा के रास्ते लौटने के तुरंत बाद गिरफ्तार कर लिया गया। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए आतंकियों की पहचान गिरी के रहनेवाले अब्दुल मजीद भट्ट और पाटन के मोहम्मद अशरफ मीर के तौर पर हुई है। गिरफ्तार आतंकियों ने खुलासा किया कि उन्होंने पाकिस्तान में पाकिस्तानी लड़कों के साथ एक प्रशिक्षण हासिल किया। उनमें से ज्यादातर युवक बलूचिस्तान के रहने वाले थे और इसमें 10 साल की उम्र तक के लड़के शामिल थे। आगे पुलिस ने बताया कि आतंकियों को ट्रेनिंग देने वाले कैंप इस्लामाबाद में ब्रह्मा शहर के करीब स्थित हैं। प्रवक्ता के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आतंकियों को नई दिल्ली में स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग ने पाकिस्तान का वीज़ा दिया था।
अधिकारी ने बताया कि इस मामले में एक मामला दर्ज कर लिया गया है और आगे की जांच जारी है। उन्होंने साथ ही कहा कि लोगों से अपील की जाती है कि वह अपने बच्चों पर नजर रखें और अगर वह लंबे समय तक घर से गायब रहते हैं, तो इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दें। ताकि इन लड़कों की जिंदगी बचाई जा सके और आगे भविष्य में एक अच्छा नागरिक बन सके।

मोदी सरकार की तरह खट्टर सरकार भी अंधी हो गई है कांग्रेस का बीजेपी पर हमला

मोदी सरकार की तरह खट्टर सरकार भी अंधी हो गई है- कांग्रेेेस

कांग्रेस प्रवक्‍ता सुरजेवाला ने कहा कि खट्टर सरकार अंधी हो गई है और अपनी नाकामी झुपाने के लिए जनता का ध्‍यान भटका रही है।

कांग्रेस ने कहा कि मोदी सरकार की तरह खट्टर सरकार भी अंधी हो गई है।

मोदी सरकार की तरह खट्टर सरकार भी अंधी हो गई है- कांग्रेेेस


हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के खिलाफ सीबीआई की कार्रवाई को लेकर, कांग्रेस की प्रतिक्रिया सामने आई। कांग्रेस ने शनिवार को सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर अपनी विफलता से सारी जनता का ध्यान हटाने के लिए, विपक्षी पार्टियों के नेताओं पर राजनीतिक साज़िश रचने का आरोप लगाया। कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ''राजनीतिक प्रति शोध विद्वेष और बदले की भावना नगर नरेंद्र मोदी सरकार के साथ-साथ खट्टर सरकार को भी अंधा बना दिया है पूरे देश में कांग्रेस नेताओं के विरुद्ध मामले दर्ज किए जा रहे हैं।'' सुरजेवाला ये  बयान हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्ड़़ा के खिलाफ 1500 करोड़ रुपए के ज़मीन सौदा मामले में सीबीआई द्वारा आरोप पत्र दाखिल किए जाने के बाद दिया है।

उन्होंने कहा कि ''हरियाणा की एक अदालत में केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा लिखित आरोप पत्र फर्जी और मनगढ़ंत हैं''
सुरजेवाला ने कहा कि ''कांग्रेस नेताओं के विरुद्ध आरोप पत्र और फर्जी आपराधिक मामले में मोदी सरकार की कुटिल चाल को उजागर करते हैं।'' भारतीय जनता पार्टी पर जांच एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्षी नेताओं के खिलाफ करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा ''यह वास्तविक मुद्दे से लोगों का ध्यान भटकाने और देश में भाजपा सरकार की नाकामी को छुपाने के लिए किया जा रहा है।''
उन्होंने कहा कि ''कुछ दिन पहले प्रवर्तन निर्देशालय यानी ईडी ने हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ इसी तरह का आरोप पत्र दाखिल किया था।'' सुरजेवाला ने कहा कि ''भाजपा  सीबीआई का इस्तेमाल पिंजरे के तोते की तरह कर रही है उन्होंने कहा हम बदला लेने के प्रयासों विद्वेष की भावना से बढ़ रही भाजपा सरकार के आगे नहीं झुकेंगे।''

February 01, 2018

महिलाएं और कैंसर

महिलाओं में कैंसर के अधिकतर मामले

महिलाओं में कैंसर के अधिकतर मामले गर्भाशय ग्रीवा या सर्वाइकल कैंसर से संबंधित होते हैं इसके बाद उनमें चेतन या ब्रेस्ट कैंसर के मामले कहीं ज्यादा सामने आते हैं।

http://latestnews24hour.in/gau-mata-latest-haryanvi-heart-touching-song-pradeep-sonu-surender-romio-sanju-kaithal/

महिलाओं में कैंसर के अधिकतर मामले


सर्वाइकल कैंसर:-


सर्वाइकल कैंसर का सामान्य करण ह्यूमन पैपिलोमा वायरस को माना जाता है। इस कैंसर में शारीरिक संपर्क के दौरान पीड़ित महिला को अत्यधिक दर्द होता है और प्रजनन अंग से रक्त स्त्राव भी हो सकता है। अगर युवा विवाहित महिलाएं स्त्री रोग विशेषज्ञ के परामर्श पर एचपीवी वैक्सीन लगवा लेती हैं। तो सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम की जा सकती है। युवा विवाहित महिलाओं को स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श पर समय समय पर सीनियर जांच अवश्य करनी चाहिए अगर पैप स्‍मियर जांच रिपोर्ट असामान्य आती है। तो फिर कापूस कॉपी जांच जरूरी करानी चाहिए।
http://latestnews24hour.in/watch-latest-haryanvi-song-khali-bottel-jk-dhakla-nikhil-gaur-surender-romio/

महिलाओं में कैंसर के अधिकतर मामले स्‍तन कैंसर      

स्तन कैंसर


स्तन कैंसर तब शुरू होता है। जब स्तन में कोशिकाएं अनियंत्रित रूप से वृद्धि करने लगती हैं यह कोशिकाएं आमतौर पर एक ट्यूमर बना लेते हैं हालांकि यह कैंसर अधिकतर महिलाओं में होता है लेकिन यह पुरुषों में भी हो सकता है गौरतलब है कि महिलाओं के सपनों में होने वाली हर गांठ कैंसर नहीं होती इसीलिए अगर किसी महिला को गांठ श्री का कुछ महसूस हो तो उसे इस बारे में विशेषज्ञ डॉक्टर से संपर्क कर मैमोग्राफी नामक जांच करानी चाहिए।

इलाज कैसे करें

स्तन कैंसर के इलाज के लिए कई विकल्प उपलब्ध है। उपलब्ध इलाज में सर्जरी कीमोथैरेपी हारमोनल थेरेपी बायोलॉजिकल थेरेपी रेडिएशन और ब्रैस्ट कंजूरिंग सर्जरी शामिल है। अधिकांश मामलों में कैंसर के इलाज की विभिन्न विधियों का इस्तेमाल किया जाता है। ब्रेस्ट कंजूरिंग सर्जरी का प्रमुख उद्देश्य जहां तक संभव हो पीड़ित महिला के सतन को बरकरार रखना है। सर्जरी कर स्तनों को हटाना नहीं है इस सर्जरी के तहत इलाज की विभिन्न विधियों का इस्तेमाल किया जाता है।

कैंसर से डरना कैसा

कैंसर से डरना कैसा

कैंसर का नाम सुनते ही अब पीडित व्‍यक्‍ति या उसके परिजनों को दहशत में आने की जरूरत नहीं है। सच तो यह है कि मेडिकल साइंंस में हूुई प्रगति के कारण जहां अनेक प्रकार के कैंसरों की रोकथाम की जा सकती है, वहीं इनका सफलतापूर्वक इलाज भी संभव है।

कैंसर का इलाज

कैंसर से डरना कैसा



क्‍या होता है कैंसर:-

शरीर के किसी भी भाग मेें कोशिकाओं की अनियंत्रित वृद्धि को कैंसर कहा जाता है। कैंसर के अनेक प्रकार हैं। यह रोग शरीर के विभिन्न अंग विशेष से अन्य भागों में भी फैल सकता है। अगर शरीर में तेजी से बढ़ने वाली कोई गांठ है। तो वह कैंसर हो सकती है। वहीं जो गांठ तेजी से नहीं बढ़ती उसमें कैंसर होने की आशंका कम होती है। मस्तिष्क में तेजी से बढ़ने वाली गाठें ट्यूमर कहलाती हैं। ध्यान दें कि हर गांठ कैंसर नहीं होती।

क्या है कारण जाने।

कैंसर होने के अनेक कारण है विभिन्न प्रकार के कैंसर रोग के कारण भी भिन्न-भिन्न होते हैं। जेनेटिक कारणों से भी कैंसर होता है। इसके अलावा अस्वास्थ्यकर जीवन शैली और पर्यावरण संबंधी कारक भी कैंसर के लिए उत्तरदाई हैं। जो लोग धूम्रपान करते हैं। उनमें स्वस्थ व्यक्तियों की तुलना में फेफड़ों का कैंसर होने की संभावना  कहीं अधिक बढ़ जाती हैं। तंबाकू उत्पादों को चबाने वाले लोगों के मुंह में कैंसर होने का जोखिम कहीं अधिक रहता है। इसी तरह जो लोग शराब का अत्यधिक सेवन करते हैं, उनमें लीवर का पाचन संस्थान से संबंधित अन्य प्रकार के कैंसर होने की संभावना अधिक बढ़ जाती है।
कैंसर का कारण

वस्तुतः शरीर में दो तरह के जींस होते हैं। पहला कैंसर प्रमोटर जीन और दूसरा कैंसर ऑपरेशन जीन एक स्वस्थ व्यक्ति में इन दोनों इन दोनों जींस के मध्य संतुलन और तालमेल कायम रहता है। लेकिन अगर इन दोनों के मध्य संतुलन बिगड़ जाता है। तो कैंसर होने की आशंकाएं अधिक बढ़ जाती है।

लक्षण है अलग-अलग

भिन्न प्रकार के कैंसर रोग के लक्षण विभिन्न होते हैं जो लोग भोजन नली के कैंसर से ग्रस्त हैं। उन्हें किसी भी वस्तु या तरल पदार्थ को निगलने में तकलीफ होती है। कहने का आशय यह है कि कैंसिल ने जिस संज्ञा भाग को प्रभावित कर रखा है। उससे संबंधित कार्य प्रणाली बाधित होने लगती है। अगर कैंसर फेफड़ों का है, तो इससे फेफड़ो की कार्यप्रणाली बुरी तरह से प्रभावित होती है।

यह है जांच करने का तरीका

पेट सीटी स्कैन के जरिए कैंसर की पहचान के अलावा इस की अवस्था यानी स्टेज का भी पता लगाया जा सकता है। यह सही है कि बायोप्सी जांच से भी कैंसर का पता चलता है। लेकिन पेट सीटी जांच से शरीर के किसी भी अंग में कैंसर का सटीक पता लगाया जा सकता है। केवल मस्तिष्क को छोड़कर वही मस्तिष्क के कैंसर ग्रस्त भाग के परीक्षण में एमआरआई परीक्षण अधिक कारगर साबित हुआ है। उपयुक्त जांच के बाद ही कैंसर पीड़ित व्यक्ति का सटीक व कारगर ढंग से इलाज किया जा सकता है।
कैंसर के प्रकार

ऐसे करें कैंसर की रोकथाम

  • विभिन्न प्रकार के कैंसर की रोकथाम इस बात पर निर्भर करती है कि समय रहते शुरुआती दौर में इनका पता लगाया जाए।
  • अगर कोई व्यक्ति कई दिनों से शारीरिक रूप से असहज और असामान्य महसूस कर रहा है तो उसे शीघ्र ही डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • 50 साल से अधिक उम्र वाले पुरुषों को साल में एक बार प्रोस्टेट स्टेप इजी फिक्स एंटीजन टेस्टिंग करानी चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि 50 साल की उम्र के बाद पुरुषों में प्रोस्टेट कैंसर होने की आशंकाएं बढ़ जाती हैं।
  • कोलोरेक्टल कैंसर बड़ी आंत का कैंसर का पता लगाने के लिए मल स्टूल का अकल्ट ब्लड टेस्ट कराया जाता है।
  • HIV के वायरस से होने वाले हेपेटाइटिस से बचाव करें।
  • स्वास्थ्यकर आदतों पर अमल करें धूम्रपान और शराब से परहेज।
  • पोस्टिक स्वास्थ्यवर्धक खाना ग्रहण करें हरी सब्जियों व फलों को आहार में शामिल करें।
  • नियमित रूप से व्यायाम करने की आदत डालें।

इलाज की तकनीकें


कैंसर के इलाज में नई तकनीकों के प्रचलन में आने से अब पीड़ित व्यक्तियों को काफी राहत मिल रही है। रेडियो सर्जरी सिस्टम साइबर नाइफ टारगेटेड थेरेपी और इम्यूनो थेरेपी ने कैंसर के इलाज में मानव एक क्रांति उत्पन्न कर दी है।

रेडियो सर्जरी सिस्टम

कैंसर के इलाज में रेडियो सर्जरी सिस्टम बुनियादी बदलाव लाने में सक्षम साबित हो रहा है। वस्तुतः इस आधुनिक रेडियो सर्जरी सिस्टम से कैंसर पीड़ितों के विकारग्रस्त भागों पर स्टीरियो टेक्निक रेडियस रेडिएशन दिया जाता है। जो स्‍टीरियोटैक्टिक रेडिएशन कैंसर ग्रस्त भाग या ट्यूमर पर फोकस कर उसे समाप्त करने का प्रयास करता है। इस सर्जरी सिस्टम से कैंसर ग्रस्त भाग के आसपास स्थित अंगों के स्वस्थ टिश्यूज पर नगण्य या कम से कम प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इस नॉन इनवेसिव यानी पीड़ा रहित सर्जरी टेक्निक में GPS संचालित ट्रैकिंग डिवाइस का भी इस्तेमाल किया जाता है। इस डिवाइस के जरिए रेडिएशन ऑंकोलॉजिस्ट कैंसर प्रभावित कोशिकाओं को सटीक तरीके से चिन्हित कर लेते हैं। इस कारण रेडिएशन की प्रक्रिया के दौरान कैंसर प्रभावित कोशिकाओं को अत्यधिक सटीक विधि से समाप्त किया जा सकता है। कैंसर के उपचार की अन्य विधियों की तुलना में इस सिस्टम से इलाज के वक्त में कमी आती है।

साइबर नाइफ

कैंसर के इलाज की है आधुनिक तकनीक है। इसके प्रयोग से बेहोश किए बगैर विभिन्न प्रकार के कैंसर रोगी डायग्नोसिस का इलाज संभव है। दूसरे शब्दों में कहें तो साइबर नाइफ रेडियो सर्जरी का एक अत्यंत कारगर टारगेट सिस्टम है। जिसमें रोगी के शरीर के प्रभावित अंग पर सर्जरी किए बगैर कैंसर का इलाज संभव है। फिलहाल वक्त साइबर नाइफ मस्तिक से रीड की हड्डी फेफड़ों पैंक्रियाज और किडनी के कैंसर के इलाज में सफल साबित हो रहा है।

टारगेटेड थेरेपी

 कैंसर होने से संबंधित जेनेटिक कारणों पर टारगेट कैंसर थेरेपी आधारित है। इस थेरेपी में विशेष तौर पर तैयार की गई नई दवाओं का इस्तेमाल किया जा रहा है। इस तरह पी के अंतर्गत मरीज के कैंसर ग्रस्त भाग के टिश्यूज के जनों से संबंधित लक्षणों के आधार पर मुंह से ली जाने वाली दवाई दी जाती है।जो शरीर की रोग प्रतिरोधक तंत्र को सशक्त बनाती है। ताकि शरीर कैंसर कोशिकाओं से लड़ाई लड़ सके कैंसर के इलाज की उपरोक्त विधियों से होने वाले कम से कम साइड इफेक्ट हैं और इलाज की इन विधियों से शरीर में बमुश्किल ही लगभग 5 फ़ीसदी विषैले तत्व शेष रह जाते हैं। जो भविष्य में दवाओं के जरिए खत्म हो जाते हैं।